स्तनधारी जीवों की तरह पक्षी भी अपनी क्षेत्र सीमा (Territory) बनाते हैं और यदि किसी अन्य पक्षी द्वारा क्षेत्र में दखल दिया जाए तो इनमें भी संघर्ष होता है। ऐसे ही संघर्ष की एक घटना इस चित्र कथा में दिखाई गई है। जिसमें एक तरफ है “पेरीग्रीन फॉल्कन” जो न सिर्फ भारत बल्कि पुरे विश्व का सबसे तेज गति से उड़ने वाला पक्षी है वहीँ दूसरी ओर है एक दुर्लभ पक्षी ‘साकेर फॉल्कन” जो भारतीय उपमहाद्वीप में पाए जाने वाला सबसे बड़ा फॉल्कन है।

साम्भर झील के किनारे एक पेरीग्रीन फॉल्कन अपने क्षेत्र में बैठा होता है, कुछ पल बाद उसे पास में एक साकेर फॉल्कन दिखाई देता और पेरीग्रीन फॉल्कन तुरंत उसकी तरफ बढ़ता है।

खतरे से अनजान साकेर फॉल्कन पहले तो खुद को बचाने की कोशिश करता है और फिर पेरीग्रीन फॉल्कन द्वारा लगातार हमला किये जाने पर दोनों में एक संघर्ष शुरू हो जाता है।

लगभग पांच मिनट तक संघर्ष करने के बाद पेरीग्रीन फॉल्कन साकेर फॉल्कन को ज़मीन पर गिरा देता है और साकेर फॉल्कन हार मान कर वहां से उड़कर दूर चला जाता है।

इस प्रकार के संघर्ष अधिकतर प्रजनन काल में देखे जाते है ताकि एक सुरक्षित स्थान और भरपूर मात्रा में भोजन की व्यवस्था को बनाये रखा जा सके।

Mr Manish Arya

Mr. Manish Arya is a devoted amateur conservationist, activist, and wildlife photographer. He spent over two decades in this field and his work has published work in many prestigious magazines.